Header Ads

  • Breaking News

    दुनिया की सबसे पुरानी लाइब्रेरीज में से एक भारत में भी है, जानें कहां..


    दुनिया भर में किताबों के शैकीन अच्छी लाइब्रेरीज की तलाश में रहते हैं. अगर उन्हें सबसे पुरानी लाइब्रेरीज मिल जाएं तो कहना ही क्या. आज हम आपको ऐसे ही 6 लाइब्रेरीज के बारे में बताने जा रहे हैं जहां आधुनिक साहित्य के साथ-साथ दुनिया भर का इतिहास एक छत के नीचे मिल जाता है.
    ब्रिटिश लाइब्रेरी, लंदन 
    यह दुनिया की सबसे बड़ी लाइब्रेरी है. यहां सबसे अधिक विषयों पर किताबें, पांडुलिपियां आदि रखी गई हैं. इसे यूके की नेशनल लाइब्रेरी भी कहा जाता है. यहां संसार की सभी भाषाओं में 150 मिलियन आइटम्स हैं. अगर आप प्रतिदिन 5 आइटम्स देखते हैं तो आपको सभी आइटम देखने में करीब 80,000 साल का समय लगेगा.

    द मॉर्गन लाइब्रेरी एंड म्यूजियम, न्यूयार्क 
    इसे प्रसिद्ध शिल्पकार रेंजो पियानो ने डिजाइन किया था. इसके लिए रेंजो ने प्रक‌ाशित किताबें, साहित्य और ऐतिहासिक पांडुलिपि, पुरातन किताबें और पुरातन ड्राइंग्स और प्रिंट्स एकत्रित किए थे.
    श्राइन ऑफ द बुक, जेरूसलम
    यह पश्चिमी जेरूसलम में इस्राइल म्‍यूजियम का एक भाग है. यहां कई पुरातन पांडुलिपियां रखी गई हैं. इसका दो-तिहाई भाग धरती के नीचे है. इस लाइब्रेरी को इसके खास डिजाइन के लिए भी जाना जाता है.
    द काफ्का म्यूजियम, प्रागयूए 
    फ्रांज काफ्का 20वीं सदी के प्रमुख साहित्यकारों में से एक नाम हैं. यहां उनके द्वारा किए गए कार्यों को मुख्य रूप से प्रदर्शित किया गया है. म्यूजियम के बुक स्टोर से उनके कार्यों को खरीदा जा सकता है.

    नेशनल म्यूजियम, नई दिल्ली 
    नेशनल म्यूजियम लाइब्रेरी के पास विश्व के इतिहास, कला और संस्कृति से संबंधित किताबों और जर्नल्स का कलेक्‍शन है. यहां कई थीम्स पर भी किताबें हैं जैसे मानव शास्‍त्र, पुरातत्व विज्ञान , कला, इतिहास, म्यूजियम स्टडीज आदि. लाइब्रेरी रिसर्च स्कालर्स, यूनिवर्सिटी छात्रों, प्रोफेसर्स, अध्यापकों आदि के लिए यह खुली रहती है.
    बिबलियोटेका मार्कियाना 
    बिबलियोटेका मार्कियाना उत्तरी इटली में है. यहां दुनिया भर की सबसे ज्‍यादा पांडुलिपियां हैं. इस लाइब्रेरी का नाम संत मार्क के नाम पर रखा गया है. यह इटली की सबसे पुरानी लाइब्रेरी में से एक है.

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad