Header Ads

  • Breaking News

    जाना था मलेशिया, विमान लेकर पहुंच गया मेलबर्न... वाह रे पायलट वाह

    सिडनी से मलेशिया के लिए उड़ान भरने वाला एयर एशिया एक्‍स विमान मेलबर्न पहुंच गया क्‍योंकि पायलट ने विमान में गलत लॉन्‍गीट्यूडनल पोजीशन (देशांतर स्थिति) दर्ज कर दी थी. सुरक्षा अधिकारियों ने बुधवार को इसका खुलासा किया.




    एयरबस ए330-300 विमान 10 मार्च को सिडनी से उड़ा और कुआलालंपुर के रास्‍ते पर था. इस बीच एयर ट्रैफिक कंट्रोल तब सचेत हो गया जब विमान गलत दिशा में उड़ने लगा.

    जांच के बाद ऑस्‍ट्रेलियाई ट्रांसपोर्ट सुरक्षा ब्‍यूरो (एटीएसबी) ने बताया, 'एयर ट्रैफिक ने विमान के क्रू को सूचना दे दी लेकिन समस्‍या को दूर करने की कोशिश का नतीजा नैविगेशन सिस्‍टम, विमान के फ्लाइट गाइडेंस और फ्लाइट कंट्रोल सिस्‍टम में और ज्‍यादा गिरावट के रूप में सामने आया. इसके बाद पायलट ने सिडनी लौटने का निर्णय लिया लेकिन खराब मौसम की वजह से उसे मेलबर्न जाने पर मजबूर होना पड़ा जहां विमान सुरक्षित उतर गया. पायलट 18 महीने से A330 विमान उड़ा रहा था.

    एटीएसबी ने पाया कि विमान के फ्लाइट मैनेजमेंट एवं गाइडेंस सिस्‍टम की सेटिंग करते वक्‍त गलती से विमान की गलत देशांतरीय स्थिति दर्ज कर दी गई. 'इससे नैविगेशन सिस्‍टम पर विपरीत असर हुआ. हालांकि गलती को पहचानने और उसे सुधारने के कई मौके मिले लेकिन इस पर तब तक ध्‍यान नहीं गया जब तक कि विमान उड़कर गलत दिशा में नहीं जाने लगा.'

    x

    एटीएसबी ने यह भी पाया कि विमान में फ्लाइट मैनेजमेंट सिस्‍टम का अपग्रेड वर्जन नहीं लगा था जो कि गलत डाटा एंट्री होने से रोकता है. एटीएसबी ने कहा, विमान के क्रू ने समस्‍या को दूर करने की कोशिश भी की. लेकिन मौजूदा चेकलिस्‍ट से मिले सीमित दिशानिर्देशों के चलते गलती सुधरने की बजाय और ज्‍यादा हो गई. साथ ही एटीएसबी ने बताया कि सस्‍ती यात्रा के लिए जानी जाने वाली मलेशियन एयरलाइन ने इस घटना को अपने सभी पायलटों के साथ साझा किया और अपने फ्लाइट क्रू के लिए एक नया ट्रेनिंग मैनुअल भी विकिसत किया.

    इस मलेशियन एयरलाइंस को पहली बार दिसंबर 2014 में भयानक घटना का सामना करना पड़ा जब इंडोनेशिया में एयर एशिया की फ्लाइट QZ8501 खराब मौसम के कारण दुर्घटनाग्रस्‍त हो गई थी. विमान में 162 लोग सवार थे. उसी साल मलेशियन एयरलाइन के दो अन्य विमान भी दुर्घटना का शिकार हुए थे जिसमें 500 से ज्‍यादा लोगों की मौत हो गई थी.

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad