Header Ads

  • Breaking News

    चीन ने अंतरिक्ष यान के लिए उच्च तापमान सहने वाला पदार्थ विकसित किया

    बीजिंग: चीन ने राकेटों और अंतरिक्ष यानों में इस्तेमाल के लिए उच्च तापमान बरदाश्त करने वाला एक बेहद हल्का एयरोजेल विकसित किया है और माना जाता है कि अब तक मानव ने इससे हल्का कोई ठोस पदार्थ विकसित नहीं किया है।

    बीजिंग के एयरोस्पेस इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस्ड मैटीरियल्स ऐंड प्रोसेसिंग टेक्नोलोजी के वरिष्ठ इंजीनियर जोउ जुनफेंग ने बताया, ‘हमने भी अपने एयरोजेल उत्पाद विकसित किए हैं और उनमें से कुछ दुनिया के उच्चतम प्रौद्योगिकीय स्तर के हैं।’ 
    चाइना डेली की एक रिपोर्ट के अनुसार जुनफेंग ने कहा, ‘हमारे ढेर सारे अंतरिक्ष यान, उपग्रह और राकेट अब उष्मा से निबटने या आंतरिक तापक्रम बनाए रखने के लिए हमारे उत्पादों का उपयोग कर रहे हैं।’ 
    चीन का अत्याधुनिक प्रक्षेपण यान ‘लॉंग मार्च 5’ अपने इंजन के पाइप का तापमान आवश्यक स्तर पर बनाए रखने के लिए जुनफेंग के इंस्टीट्यूट में विकसित एयरोजेल का उपयोग करेगा। चीन का सबसे आधुनिक और सबसे मजबूत माना जाने वाला यह अंतरिक्ष यान इस साल के अंत में अपने पहले अभियान पर जाएगा।
    जुनफेंग ने कहा, ‘हमारे एयरोजेल उत्पाद ना सिर्फ उष्मा का रोधन करने में, बल्कि तेज कंपन में भी टिकने में सक्षम हैं। इसलिए वह राकेट का सुगम संचालन सुनिश्चित करेंगे।’ चीनी वैज्ञानिक ने कहा कि मंगल अभियान में भी रक्ताभ ग्रह की सतह पर उतरने वाले भावी मार्स रोवर में एयरोजेल का उपयोग होगा।


    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad